घरेलू एलपीजी सिलेंडर का कर रहे कॉमर्शियल यूज,विध्यनगर का निवासी मनोज गुप्ता करता है गैस का अवैध कारोबार

घरेलू एलपीजी सिलेंडर का कर रहे कॉमर्शियल यूज


अवनीश तिवारी
 विराट वसुंधरा ब्यूरो सिंगरौली


 सिंगरौली। जिले भर में होटल कारोबारी, दुकानदार और सड़क पर ठेला लगाने वाले दुकानदार सब्सिडी वाले सिलेंडरों का प्रयोग कर सरकार को चूना लगा रहे है। जबकि नियम के तहत कॉमर्शियल उपयोग में घरेलू सिलेंडर का इस्तेमाल करना कानून जुर्म है। इसके बाद भी लोग नियमों को ठेंगा दिखा रहे है। प्रशासन द्वारा शहर में चेकिंग नहीं किए जाने से दुकानदारों के हौसले बुलंद हौं और वह बाहर खुले में ही रखकर ही उपयोग कर रहे है।  विगत दिन बीड़ी एंड डीयस की टीम ने शहर में इसका जायजा लिया तो चौंकाने वाली बात सामने आई।  टीम को 80 प्रतिशत से भी ज्यादा दुकानों में घरेलू सिलेंडर जलते मिले।
खुलेआम चल रहा गोरखधंधा
शहर में 80 प्रतिशत दुकानदार सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर से ही काम कर रहे हैं। मैक्सिमम दुकानदार कार्रवाई से बचने के लिए एक दो कॉमर्शियल एलपीजी सिलेंडर बाहर रखते हैं, जबकि दुकान के अंदर का सारा काम घरेलू सिलेंडर से ही लिया जाता है।


दोनों के रेट में काफी अंतर
सरकार घरेलू उपभोक्ताओं को 14.2 किलो के घरेलू कनेक्शन पर साल में 12 सिलेंडरों पर सब्सिडी प्रदान करती है। घरेलु उपभोक्ताओं को गैस सिलेण्डर में सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है। जबकि कामर्सियल सिलेण्डर में सरकार द्वारा सब्सिडी नहीं दी जाती है। इस कारण  दुकानदार पैसे बचाने के लिए सब्सिडी वाले सिलेण्डर का उपयोग करते हैं। 


दुकानदार करते हैं खेल
दुकानदार सस्ते में सिलेंडर लेने के लिए आम ग्राहकों जिन परिवार में साल में 12 सिलेंडरों का उपयोग नहीं होता या ऐसे परिवार जहां एक से अधिक कनेक्शन हैं, उन लोगों से 6 सौ रुपये में सिलेंडर खरीद लेते हैं। शहर में होटल मालिकों, ठेलेवालों को घरेलू सिलेंडर इस्तेमाल करने में कोई अंकुश न होने के कारण वे इसका फायदा उठाते हैं।


बुकिंग के 15 दिन बाद गैस
शहर में 15 से 20 दिन की बुकिंग वाले ग्राहकों के घरों में सिलेंडर नहीं पहुंचते हैं, लेकिन इन दुकानदारों के पास समय से पहले ही सिलेंडर पहुंच जाते हैं। सिलेंडर की हेराफेरी करने में कुछ एजेंसी संचालकों के साथ ही घर-घर बांटने वाले लोग खेल करते हैं। 


विध्यनगर का निवासी मनोज गुप्ता करता है गैस का अवैध कारोबार
सूत्रों के मुताबिक विन्ध्यनगर स्थित मनोज गुप्ता द्वारा संचालित गैस की दुकान द्वारा बड़े पैमाने पर सब्सिडी वाले गैस सिलेण्डर का गोरखधंधा किया जाता है। बताया जाता है कि महीने में सैकड़ो गैस सिलेण्डरों की हेराफेरी दुकान संचालक द्वारा की जाती है। 


कई दुकानों पर दिखे अवैध घरेलू गैस सिलेंडर
स्टेडियम में फास्ट फूड के नाम पर दर्जनों दुकानें संचालित हैं जिनमें माँ तारा फास्ट फूड कार्नर, द कृष्णा वेज फास्ट फूड कार्नर, देलही दरबार, राजा फास्ट फूड कार्नर, श्री बालाजी बिकानेर मिष्ठान भंडार सहित ऐसी कई दुकानें हैं जिनमें सब्सिडी वाले घरेलू गैस सिलेण्डर का प्रयोग किया जाता है।


Popular posts
तीन वर्ष से खाद्यान्न के लिए भटक रहे ग्रामीण
Image
हत्या के पांच दिन बाद भी प्रशासन ने पीड़ित परिवार की नहीं ली सुध
*रीवा। जिले के ग्राम सौर 569 पोस्ट दोहा थाना बैकुंठपुर में कृषक रामनरेश यादव  के अहरी और सामान जलकर हुआ खा*।
Image
ब्राम्हण समाज को आहत करने वाले के खिलाफ थाने में हुई शिकायत फेसबुक में ब्राम्हण एवं पुजारियों को लेकर किया था गलत पोस्ट व टिप्पडी
Image
कांग्रेस सेवादल की महिला जिला अध्यक्ष ने सफाई एवं नल कर्मचारियों का किया सम्मान गम्छा डिटाॅल सैनेटाइजर एवं मिठाई बांटा माता पिता के शादी की सालगिरह पर किया सराहनीय कार्य    
Image