कोरोना बायरस प्रसार नियंत्रण के लिए प्रभावी रणनीति बनाए,लॉक डाउन गाइड लाइन का सख्ती से पालन कराएं - ड्रा भार्गव

बड़ी खबर


अशोक मिश्रा की कलम से


सम्भागीय जनसंपर्क कार्यालय रीवा
मध्यप्रदेश शासन
समाचार
------------- 
कोरोना वायरस के प्रसार नियंत्रण के लिए प्रभावी रणनीति बनायें – कमिश्नर डॉ. भार्गव
लॉकडाउन की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करायें – कमिश्नर 


 रीवा 28 अप्रैल 2020. रीवा एवं शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने दोंनों संभागों के सभी जिला कलेक्टरों तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियां को निर्देश दिये हैं कि कोरोना वायरस के प्रसार नियंत्रण के लिए प्रभावी रणनीति बनायें। उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर लॉकडाउन की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करायें। किसी भी स्थिति में कोरोना वायरस संक्रमण की श्रंखला को तोड़ना और उसे पूर्णत: नियंत्रित करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। कोरोना वायरस संक्रमण के जहां भी पाजिटिव केस पाये जाते हैं तो वहां तत्काल स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कन्टेनमेंट स्ट्रेटजी के निर्देशों का सख्ती से पालन करायें। यदि निर्देशों के पालन में किसी व्यक्ति द्वारा किसी भी प्रकार का व्यवधान या कठिनाई निर्मित की जाती है तो उनके विरूद्ध महामारी रोग अधिनियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा आईपीसी की धारा 188 के तहत प्रभावी दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्तिच की जायेगी। 


 कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिए कि कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति के निवास को एपिसेन्टर मानते हुए भारत सरकार द्वारा जारी मार्गदर्शी दिशा-निर्देशों का पालन करें। प्रत्येक जिले में क्लस्टर कन्टेनमेंट स्ट्रेटजी बनाई जाये जिसमें क्लस्टर के भौगोलिक क्षेत्र का निर्धारण करना, संपर्कों को क्वारेंटाइन करना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना आदि शामिल हो। कन्टेनमेंट क्षेत्र की परिधि में आवाजाही करने वाले समस्त व्यक्तियों की नामजद सूची रखें ताकि उनका फालोअप सुनिश्चित किया जा सके। कन्टेनमेंट क्षेत्र के प्रवेश एवं निगम मार्ग पर कोविड-19 के संबंध में सूचना एवं प्रसार सामग्री का प्रदर्शन सुनिश्चित किया जाये। कोविड-19 पाजिटिव रोगी की पहचान होने पर उसकी नामजद सूची, पता, फोन नम्बर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जिला प्रशासन को भेजा जाए। पॉजिटिव पाये गये व्यक्ति  के परिवार के सदस्यों का सैम्पल एकत्रित किया जाये। पॉजिटिव केसों की संख्या अधिक होने पर रेवेन्यू विभाग को सम्मिलित करते हुए अतिरिक्त आरआरटी दलों का गठन किया जाये। पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आये व्यक्तियों की पहचान की जाये तथा उनकी अन्य बीमारियों की जानकारी संकलित की जाये। यदि संपर्क में आये सदस्य लक्षण रहित हैं तो उन्हें घर पर क्वारेंटाइन की सलाह दी जाये एवं लक्षण होने पर जिला कंट्रोल रूम में सूचित करने की समझाइश दी जाए। पाजिटिव पाये गये व्यक्ति के घर की विषाणु मुक्ति नगर पालिका/नगर निगम के दलों द्वारा प्रोटोकाल का पालन करते हुए सुनिश्चित किया जाये। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने प्रयोगशाला एवं जांच सुविधाएं, मानव संसाधन प्रबंधन के संबंध में भी आवश्यक निर्देश दिए हैं। 
क्रमांक-181-1238-सिंह-फोटो क्रमांक 01 संलग्न है। 


अन्य प्रदेशों में फंसे हुए प्रदेश के मजदूरों को प्रवासी मजदूर सहायता
योजना का लाभ दिलायें – कमिश्नर डॉ. भार्गव 


रीवा 28 अप्रैल 2020. रीवा एवं शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने दोंनों संभागों के सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि प्रदेश के ऐसे मजदूर जो लॉकडाउन के कारण अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं उन्हें प्रवासी मजदूर सहायता योजना का लाभ दिलायें। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए 24 मार्च 2020 को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन किए जाने की घोषणा की गई थी। लॉकडाउन के दौरान मध्यप्रदेश राज्य के ऐसे नागरिक जो अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं और मुश्किल हालातों का सामना कर रहे हैं तथा उन्हें बुनियादी आवश्यकताओं खाद्यान्न, दवाईयां एवं रहने के स्थान इत्यादि की आपूर्ति में कठिनाई हो रही है। इसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा फंसे हुए मजदूरों की तात्कालिक सहायता के लिए एक हजार रूपये की राशि अंतरित करने का निर्णय राज्य शासन द्वारा लिया गया है। 
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार योजना का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। प्रवासी मजदूरों की जानकारी विभिन्न स्रोतों से एकत्रित करें। एकत्रित जानकारी राहत आयुक्त को उपलब्ध करायें। योजना की पात्रता रखने वाले मजदूरों को शीघ्रता से राशि अंतरण करने की कार्यवाही करें। जिला कलेक्टर यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक पात्र मोबाइल नम्बर पर एक ही भुगतान किया जाये। साथ ही एक व्यक्ति को एक से अधिक बार भुगतान न किया जाये। राशि वितरित किए जाने के लिए कलेक्टर द्वारा जिला स्तर पर रेडक्रास सोसायटी में उपलब्ध राशि का तात्कालिक उपयोग किया जायेगा। वितरित की गई राशि के संबंध में हितग्राही का संपूर्ण विवरण, बैंक एकाउण्ट नम्बर, वितरण दिनांक आदि समस्त जानकारी का संधारण जिला स्तर पर अनिवार्य रूप से करें। 
क्रमांक-182-1239-सिंह 


बाहर से आने वाले मजदूरों का विधिवत मेडिकल परीक्षण करायें – कमिश्नर डॉ. भार्गव
मजदूरों के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करायें – कमिश्नर
कमिश्नर ने रीवा एवं शहडोल संभाग के कलेक्टरों को दिए निर्देश 


रीवा 28 अप्रैल 2020. मध्यप्रदेश शासन द्वारा मध्यप्रदेश के मजदूर जो दूसरे राज्यों में हैं उन्हें राज्य के गृह नगर में पहुंचाने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। रीवा एवं शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने इस संबंध में शासन स्तर पर व्यापक कार्यवाही सुनिश्चित करने हेतु संबंधित जिले के कलेक्टर को विभिन्न विभागों के बीच समन्वय बनाने के लिए अधिकृत किया है। उन्होंने रीवा एवं शहडोल दोनों संभागों के सभी जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया है कि बाहर से आने वाले मजदूरों, छात्रों, नागरिकों आदि के जिले में प्रवेश करने से पूर्व ही उनका चिकित्सक दलों द्वारा विधिवत मेडिकल परीक्षण कराना सुनिश्चित करें। किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण पाये जाने पर तत्परता से वायरोलॉजी रिसर्च डायग्नोस्टिक लैब में टेस्ट हेतु सेम्पल प्रेषित करें। संदिग्ध व्यक्तियों को 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था करें। इस संबंध में भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करें। मजदूरों के परिवहन, ठहरने, भोजन, चिकित्सकीय जांच आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करें। होम क्वारेंटाइन किये गये व्यक्तियों से आवश्यकतानुसार सतत संवाद व संपर्क स्थापित करें। मेडिकल टीम द्वारा उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त करें। 
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने बताया कि संभाग स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। रीवा संभाग में कमिश्नर कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिसका प्रभारी डिप्टी कमिश्नर (राजस्व) केपी पाण्डेय को बनाया गया है। जिनका मोबाइल नम्बर 9575572323 है तथा कंट्रोल रूम का दूरभाष नम्बर 07662-242143 है। इसी प्रकार शहडोल संभाग में कमिश्नर कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। जिसका प्रभारी अधिकारी उपायुक्त राजस्व दिलीप कुमार पाण्डेय को बनाया गया है। उनका मोबाइल नम्बर 9977174659 है एवं कंट्रोल रूम का दूरभाष नम्बर 07652-245555 है। 
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने सभी कलेक्टरों को निर्देशित किया है कि जिला स्तर पर कंट्रोल रूम बनाकर नोडल अधिकारी की नियुक्ति कर व्यापक प्रचार-प्रसार करें। अपने जिलों में कंटेनमेंट एरिया बनवायें एवं निगरानी के लिए दल गठित करें। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा दिए गए दिशा-निर्देश के अनरूप श्रमिकों को बाहर से लाने एवं ले जाने के लिए संचालित शिविरों में संपूर्ण व्यवस्था करें। उन्हें वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के साथ ही लाभार्थी मजदूरों की जानकारी से कमिश्नर कार्यालय को अवगत करायें। 
क्रमांक-183-1240-सिंह 


संभागीय समीक्षा बैठक आज 


रीवा 28 अप्रैल 2020. रीवा एवं शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव की अध्यक्षता में आज 29 अप्रैल को संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक आहूत की गई है। कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में दोपहर 12 बजे से आयोजित बैठक में धान उपार्जन 2019-20 के परिवहन, भण्डारण एवं लंबित ईपीओ के भुगतान पर चर्चा के साथ ही वर्ष 2020-21 में गेंहू उपार्जन, परिवहन, भण्डारण, वारदाना की स्थिति, कृषकों को राशि का भुगतान, एसएमएस शेड्यूलिंग एवं उपार्जन केन्द्रों में कोरोना वायरस नियंत्रण हेतु किये गये उपायों की विस्तार से समीक्षा की जायेगी। 
क्रमांक-184-1241-शुक्ल 
फसल बीमा की दावा राशि का तत्काल भुगतान करें – कलेक्टर


रीवा 28 अप्रैल 2020. कलेक्टर बसंत कुर्रे ने खरीफ 2018 मौसम की फसल बीमा की जिले के किसानों के लिये प्रदत्त अठारह करोड़ अठासी लाख बयान्वे हजार छ: सौ चालीस रूपये की राशि के तत्काल भुगतान के आदेश दिये हैं। 
 उल्लेखनीय है कि बीमा कंपनी इंश्योरेंस ऑफ कम्पनी लिमिटेड द्वारा जिले के किसानों की फसल बीमा की राशि राष्ट्रीयकृत बैंकों व जिला सहकारी बैंकों में प्रेषित की जा चुकी हैं। कलेक्टर ने महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक व प्रबंधक लीड बैंक को निर्देशित किया है कि किसानों को 30 अप्रैल 2020 तक फसल बीमा राशि का भुगतान अनिवार्यत: सुनिश्चित करायें। 
क्रमांक-185-1242-शुक्ल 
जन अभियान परिषद से जुड़े कार्यकर्ता बन गये हैं कोरोना वारियर्स 


रीवा 28 अप्रैल 2020. समुदाय में हर समस्या से लड़ने की ताकत होती है। बस उसे संगठित तरीके से समन्वित किया जाये। इस सामुदायिक शक्ति को सही तरीके से पहचानने व समन्वित करने का कार्य जन अभियान परिषद बहुत अच्छे तरीके से कर रहा है। आज गांव-गांव में जन अभियान परिषद से जुड़े युवा एवं उसके कार्यकर्ता योद्धा बनकर समुदाय को संगठित करते हुए कोरोना महामारी से लड़ने मैदान में डटे हुए हैं। रीवा जिले के लगभग हर ग्राम में जन अभियान परिषद के कार्यकर्ता ग्रामीणों को कोरोना से किस तरह बचा जाये इस बात की जानकारी नि:स्वार्थ भाव से दे रहे हैं। 
जन अभियान परिषद के कार्यकर्ता ग्रामीण व शहरी दोनों क्षेत्रों में जन जागरूकता का अभियान संचालित कर रहे हैं। इस अभियान में जहां परिषद से संबद्ध स्वैच्छिक संगठन मास्क व भोजन वितरण जैसे कार्यों में संलग्न दिखाई दे रहे हैं, वहीं ग्राम स्तर पर ग्राम विकास प्रस्फुटन समितियों के कार्यकर्ता व परामर्शदाता एवं बीएसडब्ल्यू के छात्र, मास्क, साबुन, सेनेटाइजर व भोजन वितरण के साथ-साथ ग्रामीणों को जागरूक करने हेतु दीवार लेखन, सोशल डिस्टेंसिंग व बार-बार हाथ साफ करने एवं लॉकडाउन में घरों से बाहर न निकलने की जानकारी देते नजर आ रहे हैं। कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा राशन की दुकानों में राशन लेने आये व्यक्तियों को कतारबद्ध करने, आयुर्वेदिक व होम्योपैथिक दवाओं के वितरण में भी सहयोग किया जा रहा है। कार्यकर्ताओं द्वारा समुदाय में आरोग्य सेतु एप का प्रचार-प्रसार करते हुए एप डाउनलोड कराने का भी कार्य किया जा रहा है। 
जिले में ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के पदाधिकारियों द्वारा अभी तक 288 ग्रामों में नारा लेखन का कार्य किया गया है। साथ ही समितियों के कार्यकर्ताओं द्वारा अपने घरों में 12642 मास्क का निर्माण कर उन्हें समुदाय में नि:शुल्क रूप से वितरित किये गये हैं। 124 से अधिक ग्रामों में भोजन व दवाईयों के वितरण में शासकीय तंत्र का सहयोग किया गया है। जिले के कई ग्रामों में कार्यकर्ताओं द्वारा कीटनाशक का छिड़काव कर सोशल डिस्टेंसिंग की जानकारी दी जा रही है। 


जुनूनी युवा कार्यकर्ताओं ने छेड़ी हुई है जागरूकता की मुहिम – जन अभियान परिषद जिला रीवा के जिला समन्वयक प्रवीण पाठक बताते हैं कि जिले में कोरोना संक्रमण रोकने व समुदाय को जागरूक करने की बड़ी मुहिम जन अभियान परिषद के युवा एवं जुनूनी कार्यकर्ताओं ने जिले में छेड़ रखी है। जिसमें जिले के लगभग 500 ग्रामों में जन अभियान परिषद के युवा कार्यकर्ता कोरोना संक्रमण से समुदाय को जागरूक करने व सेवा देने में लगे हुए हैं। इनमें 250 ग्राम विकास प्रस्फुटन समितियों के पदाधिकारी, 220 ग्रामों में मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के परामर्शदाता एवं छात्र/छात्राएं तथा 50 से अधिक ग्रामों में नवाकुर योजनान्तर्गत चयनित स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारी एवं अन्य स्वैच्छिक संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल हैं। जिला समन्वयक ने बताया कि इस अभियान की सबसे बड़ी बात यह है कि ये सभी कार्यकर्ता स्वयं के संसाधनों से सामुदायिक सेवा दे रहे हैं। 
क्रमांक-186-1243-शुक्ल-फोटो क्रमांक 02, 03, 04, 05, 06 संलग्न हैं। 


सीमावर्ती राज्यों से जिले में गेंहू की आवक पर रखें कड़ी नजर – कलेक्टर 


रीवा 28 अप्रैल 2020. कलेक्टर बसंत कुर्रे ने रबी उपार्जन वर्ष 2020-21 के दौरान समर्थन मूल्य पर गेंहू चना मसूर व सरसों के उत्पादन हेतु सीमावर्ती राज्यों की सीमाओं में नाके स्थापित कर वहां से आने वाले गेंहू की आवक पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने उप संचालक मंडी बोर्ड व अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) हुनमना और त्योंथर को निर्देशित किया है कि उत्तरप्रदेश की सीमा से लगे मार्गों पर बैरियर व नाके स्थापित कर कर्मचारियों की ड्यूटी लगायें ताकि वहां से आने वाले गेंहू व अन्य फसल पर कड़ी नजर रखी जा सके और वहां का गेंहू रीवा जिले में विक्रय हेतु न आये। 
क्रमांक-187-1244-शुक्ल 


उपार्जन कार्य की मॉनीटरिंग हेतु जिला स्तरीय जांच दल गठित 


रीवा 28 अप्रैल 2020. कलेक्टर बसंत कुर्रे ने रबी सीजन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर पंजीकृत किसानों से गेंहू उपार्जन के संबंध में जिला स्तरीय जांच दल का गठन किया है। इस जांच दल में हुजूर के लिए राजेन्द्र सिंह ठाकुर जिला आपूर्ति नियंत्रक मोबाइल नम्बर 9425168532, गुढ़ के लिए आरबी तिवारी जिला प्रबंधक नान मोबाइल नम्बर 9926375934, सिरमौर व सेमरिया के लिए आरएस भदौरिया महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक मोबाइल नम्बर 8839527823, त्योंथर व जवा के लिए श्रीमती नेहा पीयूष तिवारी जिला विपणन अधिकारी मोबाइल नम्बर 9430115749, रायपुर कर्चुलियान व मनगवां के लिए यूपी बागरी उप संचालक कृषि मोबाइल नम्बर 9620720097, नईगढ़ी व मऊगंज के लिए उपायुक्त सहकारिता मोबाइल नम्बर 9669562094 तथा हनुमना के लिए दीपक गोड़ नाप तौल निरीक्षक मोबाइल नम्बर 8109710432 को नियुक्त किया गया है। जांच दल के सदस्य अपने क्षेत्रान्तर्गत खरीदी केन्द्रों का सप्ताह में दो दिन भ्रमण कर उपार्जन की व्यवस्थाओं सहित कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के पालन की भी व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे।


Popular posts
तीन वर्ष से खाद्यान्न के लिए भटक रहे ग्रामीण
Image
हत्या के पांच दिन बाद भी प्रशासन ने पीड़ित परिवार की नहीं ली सुध
*रीवा। जिले के ग्राम सौर 569 पोस्ट दोहा थाना बैकुंठपुर में कृषक रामनरेश यादव  के अहरी और सामान जलकर हुआ खा*।
Image
ब्राम्हण समाज को आहत करने वाले के खिलाफ थाने में हुई शिकायत फेसबुक में ब्राम्हण एवं पुजारियों को लेकर किया था गलत पोस्ट व टिप्पडी
Image
कांग्रेस सेवादल की महिला जिला अध्यक्ष ने सफाई एवं नल कर्मचारियों का किया सम्मान गम्छा डिटाॅल सैनेटाइजर एवं मिठाई बांटा माता पिता के शादी की सालगिरह पर किया सराहनीय कार्य    
Image