अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी के लोडिंग विभाग में चल रहा सुविधा शुल्क का खेल*

*खबरों के लिए सत्य से डरना क्या*
 *दैनिक विराट वसुंधरा*
*अशोक मिश्रा रीवा✍️*
*अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी के लोडिंग विभाग में चल रहा सुविधा शुल्क का खेल*


रीवा - श्री व्यंकटेश ट्रेडिंग कंपनी की एक गाड़ी लोडिंग के लिए 6 दिन बाद गेट के अंदर गई डिस्पैच प्रभारी जिन ट्रांसपोर्टरों से पाते हैं सुविधा शुल्क उनकी बिल्टी पर शीघ्र ही गाड़ियों की लोडिंग हो जाती है जो ट्रांसपोर्टर अपने को दबंग मानते हैं प्रति गाड़ी सौ रुपए डिस्पैच में नहीं देते उनकी विल्टियों में कुछ न कुछ कानूनी दाव पेच की खामियां निकालकर गेट के अंदर ही नहीं जाने देते पिछले दिनों भी इसी तरह कई ट्रक ऑपरेटरों व ट्रांसपोर्ट संचालकों ने डिस्पैच प्रभारी की भ्रष्टाचारी कारगुजारियों पर काफी बवाल मचा था जिस पर सीधी के एक ट्रक चालक को जिसकी बिल्टी व्यंकटेश ट्रेडिंग कंपनी से लगी थी उसके साथ स्थानीय कर्मचारियों ने मारपीट तक किया था उसने कहा था कि हमने शिकायत नहीं किया तब उसकी गाड़ी को माल मिलने लगा था यदि ट्रक ऑपरेटर या ड्राइवर कही इस बात की शिकायत कर देते हैं तो डिस्पेचड विभाग से उनकी गाड़ियों को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाता है फिर उन्हें माल ढुलाई का कार्य कंपनी द्वारा नहीं दिया जाता।
त्रिपाठी रोड लाइंस के बबलू के हवाले से यह ज्ञात हुआ कि श्री व्यंकटेश ट्रेडिंग कंपनी की बिल्टी लेकर ट्रक क्रमांक एमपी 17HH3253 जो धनेश त्रिपाठी की गाड़ी है वह 1 मई से 6 मई तक डिस्पैच गेट में खड़ा था 6 दिनों तक डिस्पैच के अधिकारी उसे लोडिंग के लिए गेट के अंदर नहीं जाने दिये दीपक रोडलाइंस सफारी फॉरवर्डिंग साईं मूवर्स श्याम कार्गो एंड कंपनी आरके रोडलाइंस महावीर रोड लाइंस आदि ट्रांसपोर्टरों ने बताया कि डिस्पैच में इसी तरह हमेशा से ही चलता चला आ रहा है जिसे ट्रक के लिए भाड़ा चाहिए साथ ही प्रतिदिन चाहिए उसे सुविधा शुल्क तो देना ही पड़ेगा अन्यथा नेतागिरी करने पर गाड़ी व ट्रांसपोर्ट दोनों ही काली सूची में चले जाएंगे तो उन्हें फिर गेट के अंदर जाने की अनुमति ही न मिलेगी धनेश त्रिपाठी के ट्रक चालक से जब जानकारी ली गई कि 6 दिनों तक नंबर लग जाने के बाद भी लोडिंग में डिस्पैच गेट से अंदर गाड़ी क्यों नहीं जाने दे रहे थे तो चालक ने बताया कि कह रहे थे कि मार्च माह में जब सीमेंट लोड करके गए थे तो उस समय गाड़ी लोडिंग से गेट आउट दर्ज नहीं है मैं कहता था कि इसमें हमारी क्या गलती है यह तो जो लोग डिस्पैच गेट में इंट्री करते हैं उनकी गलती है जो गाड़ी लोडिंग के बाद डिस्पैच से बाहर होती है उन्हें आउट होना दर्ज करना चाहिए यदि गाड़ी माल लोड कर फैक्ट्री गेट से बाहर न हुई होती तो मै लोडिंग के लिए बिल्टी क्यों लगाता और 6 दिनों से इस आशा में खड़ा रहा कि अब गाड़ी अंदर जाएगी चालक ने बताया कि मैं जिस ट्रांसपोर्ट से बिल्टी लगाया था वह बहुत ही दबंग सेठ है जब उनसे बताया कि 6 दिनों से गेट में बिल्टी लगाने के बाद नंबर लगा कर लोडिंग के लिए गाड़ी खड़ी कर रखे हैं और हमारे पास खाने के लिए पैसे नहीं हैं तब सेठ ने क्या कहा या क्या किया यह नहीं जानता लेकिन छठवें दिन शाम को गाड़ी गेट के अंदर शाम को गाड़ी गेट के अंदर लोडिंग में बुला लिये।
इस संबंध में डिस्पैच प्रभारी ओंकर धाकड़ के मो.न.7088113856 में फोन कर जानकारी लेने का प्रयास किया गया लेकिन उनका मोबाइल नहीं उठा उसके बाद डिस्पैच में पदस्थ रामबाबू द्विवेदी के मो.न.9424669620 पर कॉल कर मामले के संबंध में जानकारी लेने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने यह कहकर फ़ोन रख दिया कि मैं प्रयागराज से बोल रहा हूं डिस्पैच के अधिकारियों द्वारा जवाब न दे कर बचने के प्रयास से यह साफ जाहिर होता है कि डिस्पैच व लोडिंग में सुविधा शुल्क व कमीशन का खेल निश्चित रूप से जारी है जिसे भयवस ट्रांसपोर्टर उजागर नहीं कर पाते।


Popular posts
तीन वर्ष से खाद्यान्न के लिए भटक रहे ग्रामीण
Image
हत्या के पांच दिन बाद भी प्रशासन ने पीड़ित परिवार की नहीं ली सुध
*रीवा। जिले के ग्राम सौर 569 पोस्ट दोहा थाना बैकुंठपुर में कृषक रामनरेश यादव  के अहरी और सामान जलकर हुआ खा*।
Image
ब्राम्हण समाज को आहत करने वाले के खिलाफ थाने में हुई शिकायत फेसबुक में ब्राम्हण एवं पुजारियों को लेकर किया था गलत पोस्ट व टिप्पडी
Image
कांग्रेस सेवादल की महिला जिला अध्यक्ष ने सफाई एवं नल कर्मचारियों का किया सम्मान गम्छा डिटाॅल सैनेटाइजर एवं मिठाई बांटा माता पिता के शादी की सालगिरह पर किया सराहनीय कार्य    
Image